Breaking News
Home / World / अल्ट्रासाउंड में बच्चे के मुंह से निकलते दिखे बुलबुले ,डॉक्टरों की एबॉर्शन की चेतावनी को ना मानते हुए महिला ने दिया बच्चे को जन्म और फिर …

अल्ट्रासाउंड में बच्चे के मुंह से निकलते दिखे बुलबुले ,डॉक्टरों की एबॉर्शन की चेतावनी को ना मानते हुए महिला ने दिया बच्चे को जन्म और फिर …

सोशल मीडिया पर हमे आये दिन अजीबो गरीब खबरे पढने और जानने को मिलती रहती है जो कभी कभी तो हमे कुछ चीजों से अवेयर भी कराती है |आज हम आपको एक ऐसी ही घटना के ब बारे में बताने जा रहे है जिसे जानने के बाद आप भी हैरान रह जायेंगे |आपको बता दे ये घटना अमेरिका की है जहाँ एक प्रेग्नेंट महिला अपना रूटीन चेकप के लिए डॉक्टर के पास जाती है और जब डॉक्टर ने महिला का अल्ट्रासाउंड किया तो उसमे बच्चे के मुंह से गुब्बारे निकलते हुए दिखाई देने लगे जिसे देखकर डॉक्टर्स भी हैरान रह गये

उन्होंने महिला से कहा की बच्चे के शरीर में जन्म से पहले ही ट्यूमर पल रहा है जो जच्चा और बच्चा दोनों के लिए ही  बेहद खतरनाक है इसीलिए जितना जल्द हो सके एबॉर्शन कराना ही ठीक रहेगा |महिला डॉक्टर की बात सुनकर काफी दुखी हुई क्योंकि वो अपना बच्चा खोना नहीं चाहती थी इसीलिए वो डॉक्टरों से सेकंड ओपिनियन लेने के बारे में सोचा और वह दुसरे डॉक्टर से कंसल्ट की तो एक डॉक्टर ने बताया की एबॉर्शन के अलावा जो दूसरा रास्ता है वो है गर्भ में ही बच्चे की सर्जरी कर ट्यूमर को निकालना  जिसमे इंडोस्कोपी सर्जरी के जरिये लेजर तकनीक से इस ट्यूमर को निकाल सकते हैं और वो भी गर्भाशय के अंदर ही|लेकिन इसमें बहुत रिस्क है और  अब तक ऐसा सर्जरी किसी के साथ भी नहीं किया गया है इसीलिए कुछ कहा नहीं जा सकता की इसका रिजल्ट क्या हो सकता है|

लेकिन महिला को डॉक्टर का ये विकल्प सही लगा और वो इस सर्जरी के लिए तैयार हो गयी|जब महिला इस चीज के लिए राजी हो गयी तो डॉक्टरों ने गर्भाशय में ही  बच्चे की सर्जरी करने का पूरा इंतजाम किये और सबसे बड़ी बात तो ये थी की ये ऑपरेशन सफल रहा जिसमे माँ और बच्चे दोनों की ही जान बच गयी और इसके साथ ही महिला के इस रिस्क की वजह से दुनिया को एक नायाब तोहफा भी मिल गया

आपको बता दे ये पहली इंडोस्कोपी  सर्जरी जो कि  टैमी के यूट्रस के अंदर  की गयी वो मियामी के जैक्सन मेमोरियल हॉस्पिटल के फीटल थैरेपी सेंटर में डायरेक्टर रुबेन के द्वारा किया गया है|इस पूरे सर्जरी में डॉक्टर ने सर्जरी के छोटे से छोटे टूल्स के अलावा कैमरा तक एक इंच से भी छोटे रास्ते के जरिये  टैमी के यूट्रस  में डाला था जो बेहद ही कठिन और जोखिम भरा था और अंदर की  हर चीज को वो केवल अल्ट्रासाउंड मशीन के द्वारा ही देख पा रहे थे

वही इस पूरे सर्जरी के दौरान  टैमी को लोकल एनस्थीसिया पर रखा गया था और टैमी ने बताया की जब डॉक्टरों से उनकी बेटी के शरीर से ट्यूमर को अलग  किया तो वो ट्यूमर पेट में तैरता हुआ नजर आ रहा था और ये देखने के बाद  ही टैमी ने भी राहत की साँस ली और उसने बताया की इस ऑपरेशन के सफल होने बाद उसे लगा जैसे की उसके मन पर से कितना बड़ा बोझ हट गया हो |

वही इस पूरे प्रोसीजर के पूरे 4 महीनो के बाद टैमी ने एक सवस्थ बेटी को जन्म दिया और वो भी बिल्कुल सामान्य बच्चो की ही तरह है बस उसके मुंह पर एक छोटा सा सर्जरी का निशान है | टैमी अपनी इस बेटी को जन्म देने के साथ साथ दुनिया को एक नायाब तोहफा भी दे डाला और आज वो अपनी बेटी के साथ बहुत खुश है |

About Ankita Yadav

Check Also

पैसे गिनने के लिए नौकर रखता है ये भिखारी, महीने की कमाई जान उड़ जायेंगे होश

किसी बड़े आदमी ने कहा है कि पैसा आपके चारों ओर बिखरा हुआ है. बस …