Breaking News
Home / Astrology / ऐसा बनेगा अयोध्या में राम मंदिर, शिल्पकारो ने बताया डिज़ाइनिंग का पूरा ब्यौरा

ऐसा बनेगा अयोध्या में राम मंदिर, शिल्पकारो ने बताया डिज़ाइनिंग का पूरा ब्यौरा

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते ही है कि बीते शनिवार को कोर्ट ने राम मंदिर पर मामले पर अपना फैसला सूना दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने ये साफ़ बता दिया है कि अयोध्या में राम मंदिर ही बनेगा. अयोध्या विवाद इतिहास का सबसे बड़ा ऐसा मामला बताया जा रहा है जिसे सुलझाने के लिए सुप्रीम कोर्ट को इतना लंबा समय लगा है. पिछले कुछ सालो से  राम मंदिर और बाबरी मस्जिद को लेकर हिन्दू और मुस्लिमो में विवाद चला हुआ था कि अयोध्या में क्या बनेगा. लेकिन अब ये स्पष्ट हो गया है कि अयोध्या में राम मंदिर ही बनेगा. इसके साथ ही मुस्लिमो के साथ भी अन्याय न हो इसका सुप्रीम कोर्ट ने पूरा ध्यान रखा है और अयोध्या में 5 अकड जमीन मुसलमानों को देने का फैसला किया है.

अयोध्या में राम मंदिर बनने की खबर से हर कोई ख़ुशी मना रहा है. अयोध्या में राम मंदिर का फैसला आने के बाद अब इसके डिज़ाइन को लेकर चर्चा शुरू हो गयी है कि राम मंदिर कैसे बनेगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 1989 में शिल्पकार चंद्रकात सोमरा ने सबसे पहले राम मंदिर का डिज़ाइन तैयार किया था. उन्हें ये पूरा विश्वास था कि एक न एक दिन अयोध्या में राम मंदिर जरुर बनेगा. शायद ये उनके मन का विश्वास ही था कि उन्होंने उस समय ही राम मंदिर का डिज़ाइन बनवा लिया था. जैसे ही उनको इस बात की जानकारी हासिल हुई कि अयोध्या में राम मंदिर के लिए सुप्रीम कोर्ट ने हामी भर दी है वे बहुत खुश हुए.

राम मंदिर के फैसले पर अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए चंद्रकात सोमरा ने कहा है कि उनका 30 साल पुराना इंतज़ार आज जाके खत्म हुआ है. चंद्रकात अहमदाबाद के रहने वाले है. उन्होंने 1989 में ही राम मंदिर के निर्माण को लेकर इसका डिज़ाइन तियार कर लिया था. लेकिन अब उन्होंने लोगो को भी अयोध्या में राम मंदिर कैसा होगा और इसके आसपास का इलाका कैसा होगा इसके बारे में सारी जानकारियाँ दी है.

राममन्दिर के साथ बनेंगे 4 और मंदिर

चन्द्रकांत सोमरा ने बताया है कि अयोध्या में राम मंदिर तो बनेगा ही लेकिन उसके आस पास 4 मंदिर और भी बनाये जांयेंगे. ये मंदिर माता सीता, भरत, हनुमान जी और गणेश जी का होगा. इस मंदिर की ख़ास बात ये होगी कि ये राम मंदिर 2 मंजिल का बनाया जायेगा. जिसमे पहला राम भगवान का मंदिर होगा और उसकी पहली मंजिल पर राम दरबार रहेगा. इस जगह पर राम भगवान के साथ माता सीता लक्ष्मण और हनुमान जी की मूर्तियाँ विराजमान रहेगी. ये मंदिर नागर शैली का होगा जिसके पिल्लरों पर अलग अलग भगवानो की झांकियां तैयार की जाएगी.

इस मंदिर की सबसे बड़ी ख़ास बात ये होगी कि इसमें प्रवेश करने के लिए 4 गेट बनाये जायेंगे. ये गेट सभी चारो दिशाओं में बनाये जायेंगे. चारो प्रवेश गेट पर मंदिर की झांकियां बनी मिलेगी. इसके अलावा मंदिर में प्रदर्शनी, मेडिटेशन हॉल, धर्मशाला, रिसर्च सेंटर, स्टाफ के रहने के लिए घर, राम भगवान पर रिसर्च और साहित्य के लिए लाइब्रेरी भी बनाई जाएगी. फ़िलहाल अगर डिज़ाइन की बात की जाए तो अभी ये कुल 69 एकड़ का प्लान है. राम भगवान का प्रमुख मंदिर 270 फीट लम्बा, 126 मीटर चौड़ा 123 फीट ऊँचा होगा. इस मंदिर को बनाने में 2 लाख 63 हजार घनफीट पत्थर लगने वाले है.

चन्द्रकांत ने बताया कि जिस समय उन्होंने इस मंदिर के डिज़ाइन को तैयार किया था तो मंदिर की कीमत 25 करोड़ थी जोकि अब बढकर दुगुनी हो गयी है. इस मंदिर को बनाने के लिए 3 से 4 साल का समय लगने वाला है.

About Rani

Check Also

22 नवंबर 2019 राशिफल: शुक्र ग्रह के परिवर्तन से सभी 12 राशियों पर पड़ेगा इसका असर

मेष राशि- शुक्र का धनु राशि में प्रवेश होने की वजह से इन जातकों के …