Breaking News
Home / Mythology / दिवाली की रात इन 5 जगहों पर दिया जलाना न भूलें, मां लक्ष्मी की होगी कृपा, जानिये कौन सी हैं वो जगहें

दिवाली की रात इन 5 जगहों पर दिया जलाना न भूलें, मां लक्ष्मी की होगी कृपा, जानिये कौन सी हैं वो जगहें

भारत एक ऐसा देश है जिसको त्योहारों की भूमि कहा जाता है। हिंदू मान्यता के अनुसार भारत में कुल 33 करोड़ देवी-देवता हैं और इसी कारण हमेशा किसी ना किसी त्यौहार का माहौल तो बना ही रहता है। इन्हीं पर्वों में से एक खास पर्व है दीपावली जो दशहरा के 20 दिन बाद आता है।इस त्योहार को देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी धूमधाम से मनाया जाता है|

दीपावली का त्यौहार 5 दिनों तक मनाया जाता है। यह धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज पर खत्म होता है। लेकिन दीपावली की तैयारी कई दिनों पहलेसे शुरू हो जाती है। लोग अपने घरों, दुकानों आदि की सफाई करते है। घरो और अपनी दुकानों आदि की रंगाई|पुताई करते है। बाज़ारों की गलियों कोसुनहरी झंडियों आदि से सजाया जाता है। इस तरह दीपावली से पहले ही घर, मोहल्ले, बाजार आदि सब साफ सजे हुए दिखाई देते है।

क्यों मनाई जाती है दिवाली

हिन्दी ग्रंथ रामायण के अनुसार, दशरथ पुत्र भगवान श्री राम ने अपने वनवास काल मे लंका राजा रावण का वध कर माता सीता को मुक्त कराया था और जब वे चौदह वर्षों का वनवास पूर्ण कर
अपने नगर अयोध्या पहुंचे तो अयोध्यावासियों ने पूरे नगर मे घी के दिये जलाकर उत्सव मनाया था।
तभीसे हर कार्तिक अमावस्या को दीपावली मनाई जाती है।दिवाली के दिन लोग भगवान राम उनके भाई लक्ष्मण तथा पत्नी माता सीता के साथ-साथ धन की देवी माता लक्ष्मी था भगवान गणेश की पूजा
करते है, तथा ये मंगल कामना करते है की आने वाला समय खुशियो तथा समृद्धि से भरा हो।

दीपों का उत्सव आरंभ होते ही घर-घर में दीप झिलमिलाने लगते हैं। दिवाली के शुभ पर्व पर सभी घरों में दिए और दीपक जलाए जाते है। दिवाली के दिन घरों में दीपक जलने की प्रथा सदियों से चली आ रही है। दिवाली की रात हम अपने घर को दीपक की रोशनी से जगमग करते हैं। ऐसी माना जाता है की दिवाली की रात माता लक्ष्मी पृथ्वी पर भ्रमण करती हैं। हर कोई चाहता है कि उसके घर मां लक्ष्मी की कृपा बरसे वही यदि आप भी चाहते हैं की माता लक्ष्मी आपके घर में प्रवेश करें तो कुछ विशेष जगहों पर दीपक जलना न भूलें। आज हम आपको बताएंगे की दिवाली की रात कहां – कहां दीपक जरूर बनाना चाहिए-

पीपल के पेड़ के नीचे –

वही आप एक दीपक पीपल के पेड़ के नीचे भी जलना चाहिए। दिवाली के दिन ऐसा करना बहुत शुभ मना गया हैं परन्तु एक बात का विशेष ध्यान रखें दीपक जला कर रखने के बाद पीछे मुड़ कर नहीं देखना चाहिए। पीपल के पेड़ पर दीपक जलने से आपके जीवन में धन से जुडी सभी प्रकार की समस्या दूर हो जाती हैं।

घर के आँगन में –

घर के आँगन में दीपक जलना चाहिए पर एक बात ध्यान रखे यह दीपक रात भर जलता रहें इसलिए यह दीपक बड़ा होना चाहिए।

चौराहे पर –

इतना ही नहीं बल्कि दिवाली की रात घर के पास वाले चौराहे पर भी दीपक जलना चाहिए।

मुख्य द्वार की चौखट पर –

घर के मुख्य द्वार की चौखट पर भी दीप जलना चाहिए। घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलने से नकारात्मकता घर में प्रवेश नहीं कर पाती हैं।ऐसा करने से घर परिवार में सुख और समृद्धि की प्राप्ति होती हैं।

मुख्य द्वार की चौखट पर –

घर के मुख्य द्वार की चौखट पर भी दीप जलना चाहिए। घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलने से नकारात्मकता घर में प्रवेश नहीं कर पाती हैं।ऐसा करने से घर परिवार में सुख और समृद्धि की प्राप्ति होती हैं।

About Ankita Yadav

Check Also

जब फैशन दिखाने के चक्कर में खिसक गई मलाइका अरोड़ा की ड्रेस, नहीं बचा पाई लाज Oops Moment का हुईं शिकार

भारतीय अभिनेत्री मलाइका अरोड़ा (Malaika Arora) भारत की टॉप आइटम गर्ल्स में से एक मानी …