Breaking News
Home / Trending News / जानें कौन हैं लेफ्टिनेंट शिवांगी, जो बनी देश की पहली महिला नेवी पायलट

जानें कौन हैं लेफ्टिनेंट शिवांगी, जो बनी देश की पहली महिला नेवी पायलट

आज का जमाना बदल चुका है ऐसे में अब महिला हो या पुरूष हर कोई एक बराबर है। जी हां तभी तो आज के समय में महिलाएं वो काम कर रही हैं जो पहले सिर्फ पुरूष ही किया करते थें। आज हम आपको एक ऐसी ही कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके बारे में जानकर हर कोई उनकी मिसाल दे रहा है। हम बात कर रहे हैं सब लेफ्टिनेंट शिवांगी की जो कि भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट होंगी।

दरअसल शिवांगी 2 दिसंबर को फिक्स्ड विंग डोर्नियर सर्विलांस विमानों की प्लेन उड़ाएंगी। शिवांगी कोच्चि में ऑपरेशन ड्यूटी में शामिल होंगी। ये सुनकर कई लोगों की तो बोलती ही बंद हो गई कि शिवांगी फिक्स्ड विंग डोर्नियर सर्विलांस विमान उड़ाएंगी। शायद आपको पता नहीं है लेकिन यह भी बताते चलें कि शिवांगी बिहार के मुजफ्फरपुर से हैं। शिवांगी बचपन से ही काफी तेज तर्रार लड़की रह चुकी हैं, इन्होने इस मुकाम पर पहुंचने के लिए काफी संघर्ष किए हैं।

शिवांगी ने अपनी पढ़ाई डीएवी पब्लिक स्कूल से की है। जिसके बाद स्कूली शिक्षा पूरी होने पर उन्होने सिक्किम मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक किया। शिवांगी की ट्रेनिंग दक्षिणी कमान में चल रही है। ड्रोनियर 228 प्लेन को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने तैयार किया है। इसे कम दूरी के समुद्री मिशन पर भेजा जाता है। इसमें अडवांस सर्विलांस रेडार, इलेक्ट्रॉनिक सेंसर और नेटवर्किंग जैसे कई शानदार फीचर्स मौजूद हैं। इन फीचर्स के दम पर यह प्लेन भारतीय समुद्र क्षेत्र पर निगरानी रखेगा।

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि शिवांगी ने 12वीं तक की पढ़ाई डीएवी-बखरी से की है। इसके बाद शिवांगी ने सिक्किम मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक किया है। भारतीय नौसेना अकादमी में शिवांगी को 27 एनओसी कोर्स के तहत एसएसी (पायलट) के तौर पर शामिल किया गया था। शिवांगी को 27 एनओसी कोर्स के तहत एसएसी (पायलट) के तौर पर शामिल किया गया था। उन्हें पिछले साल जून में वाइस एडमिरल ए.के. चावला ने औपचारिक तौर पर नौसेना का हिस्सा बनाया था। अब शिवांगी सर्विलांस विमान उडाएंगी। ये सर्विलांस विमान कम दूरी के समुद्री मिशन पर भेजे जाते हैं। इसमें एडवांस सर्विलांस राडार, इलेक्ट्रॉनिक सेंसर और नेटवर्किंग जैसे कई उपकरण मौजूद होते हैं।

बता दें कि इस साल भावना कांत भारतीय वायुसेना की पहली महिला पायलट बनी थीं, जिन्होंने सभी प्रशिक्षण क्वालीफाई किए थे। भावना के अलावा मोहना सिंह और अवनी चतुर्वेदी भी फाइटर पायलट बनी थीं। इसके अलावा भारतीय सेना में 100 महिला सैनिकों का पहला बैच 2021 में शामिल हो सकता है। इन महिला सैनिकों को भारतीय सेना के कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस में कमीशन किया जाएगा।

शिवांगी की इस बात को देखकर हर कोई कह रहा है कि बेटी हो तो ऐसी, ऐसे जगह पर रहने के बावजूद शिवांगी ने अपनी पूरी लग्न व मेहनत के साथ इस उंचाई पर पहुंची है। इतना ही नहीं शिवांगी की मिसाल हर कोई दे रहा है हालांकि ये पहली बार नहीं हुआ है, आपको बता दें कि इसी साल फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कांत भारतीय वायुसेना की पहली महिला पायलट बनी थीं, जिन्होंने फाइटर जेट उड़ाने के लिए क्वालिफाई किया था। उन्होंने मिग-21 एयरक्राफ्ट उड़ाकर यह सफलता हासिल की थी। इससे पहले 2016 में भावना कांत, अवनी चतुर्वेदी और मोहाना सिंह को भारतीय वायुसेना में पायलट के तौर पर तैनाती मिली थी।

About puja kumari

Check Also

सामने आई विधायक अदिति सिंह की शादी की तस्वीरें, वेडिंग डे पर पिता को याद कर लिखा बेहद ही इमोशनल पोस्‍ट

यूपी के रायबरेली से कांग्रेस की जानी मानी विधायक अदिति सिंह को राजनीति जगत में …