Breaking News
Home / Trending News / कहीं आप भी तो नहीं कर रहे फूल झाड़ू से बने जीरा का सेवन, ऐसे करें असली व नकली की पहचान

कहीं आप भी तो नहीं कर रहे फूल झाड़ू से बने जीरा का सेवन, ऐसे करें असली व नकली की पहचान

अगर आप भी देश विदेश की खबरों में दिलचस्पी रखते होंगे तो आजकल एक खबर है जो कि धड़ल्ले से चल रही है। ये खबर ऐसी थी कि इसने हर किसी को हिलाकर रख दिया। दरअसल आजतक आप सभी ने दूध से लेकर मिठाईयों और सब्जियों में मिलावट की खबर जरूर सुनी होगी लेकिन जब से जीरा में मिलावट की खबर सामने आई तभी से हर कोई अपनी सेहत को लेकर चिंतित हो गया। जी हां मिलावट के इस दौर में अब एक नाम और शामिल हो गया और वो है जीरा जिसे हर किसी के घर में पाया जाता है। बताया जा रहा है कि बाजार में यह बड़े ही तेजी से बिक रहा है। अब सवाल यह उठ रहा है कि आखिर लोग इस नकली जीरा व असली जीरा की पहचान कैसे करें।

जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में दिल्ली पुलिस ने नई दिल्ली के बवाना में नकली जीरा बनाने वाले गिरोह के भांडाफोड़ किया है। यहां पुलिस ने छापेमारी में 20 हजार किलो तैयार नकली माल और आठ हजार किलो कच्चा माल जब्त किया है। इस गोरख धंधे का मास्टरमाइंड यूपी के शाहजहांपुर स्थित जलालाबाद का रहने वाला बताया जा रहा है।

कैसे बनाते हैं नकली जीरा

अब आप सोच रहे होंगे कि भला आखिर ये नकली जीरा कैसे तैयार किया जाता है, तो सबसे पहले तो ये जान ले कि इसके लिए फूल झाड़ू में प्रयोग होने वाले घास का इस्तेमाल किया जाता है। जो कि खासकर यूपी में नदियों के किनारे उगाई जाती है। इसकी पहचान करना इसलिए मुश्किल हो जाता है क्योंकि इस घास में कई छोटी-छोटी पत्तियां होती हैं, जिसके कारण यह बिल्कुल जीरा जैसा लगता है।

नकली जीरा बनाने के लिए जो प्रक्रिया फॉलोव किया जाता है उसमें सबसे पहले जंगली घास की पत्तियों को गुड़ के पानी में डाला जाता है। पानी में डालने के बाद उसे सुखाया जाता है, जिसके कारण इसका रंग जीरे जैसा हो जाता है। जब इस घास का रंग जीरे जैसा हो जाता है तब इसे पत्थर के बने पाउडर में डालकर रख दिया जाता है। फिर क्या है ऐसा करने के बाद इसे लोहे की एक बड़ी छलनी से छाना जाता है। नकली जीरे को असली रंग देने के लिए इसमें स्लरी पाउडर भी मिलाया जाता है और देखते ही देखते तैयार हो जाता है नकली जीरा।

कैसे करें असली व नकली जीरे की पहचान

अब परेशानी इस बात की आती है कि बाजार में आए इस नकली व असली जीरे की पहचान आखिर कैसे करें, तो आपको बता दें कि ये बेहद ज्यादा मुश्किल भी नहीं है, इसकी शुद्धता की पहचान अगर आप करना चाहते हैं तो आपको एक कटोरी में पानी लेना होगा और इसमें जीरा डाल दें। फिर क्या पानी में डालते ही अगर जीरा रंग छोड़ने लगे और टूटना शुरू हो जाए तो समझ लीजिए कि आपकी रसोई में रखा जीरा नकली है। असली जीरा पानी में जाने के बाद वैसा ही रहता है। साथ ही आप इन दोनों में कौन सा असली और कौन सा नकली है इसका पता आप दुकान पर खरीदते समय उसकी खुशबू से भी लगा सकते हैं। क्योंकि असली जीरा में खुशबू होती है जबकि नकली जीरे में खुशबू नहीं होती।

About puja kumari

Check Also

शहीद सचिन का माँ को आखिरी पैगाम – माँ मेरा इंतज़ार मत करना मुझे दुश्मन को कुचलना है

एक माँ के लिए इससे ज्यादा दुःख की क्या बात होगी कि उसका जवान बेटा …