Breaking News
Home / Trending News / अब गाय नहीं रह गई शाकाहारी खा रही हैं मछली और चिकन, सरकार कराएगी इनका इलाज

अब गाय नहीं रह गई शाकाहारी खा रही हैं मछली और चिकन, सरकार कराएगी इनका इलाज

गायों को लेकर हम कई सारी बातें जानते हैं वहीं सभी जानवरों में गाय को सबसे पवित्र माना जाता है या यूं कह ले कि माता माना जाता है तभी तो शुभ कामों में भी इसके दूध व गोबर तक का प्रयोग किया जाता है। वहीं आजतक आपको यही पता होगा कि गाय एक शाकाहारी जानवर है इसलिए इसकी पवित्रता और भी ज्यादा बन जाती है। वैसे आज हम आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आपको यकीन नहीं होगा।

दरअसल हाल ही में गायों की खाने की आदत को लेकर एक जांच किया गया जिसमें कुछ ऐसे तथ्य सामने आए जो कि एकदम से चौंका देने वाले थें, जी हां दरअसल पता चला है कि गाय भी अब धीरे धीरे मांसाहारी खाना पसंद करने लगी हैं, इतना ही नहीं वो मछली और चिकन भी खा भी रही हैं। ये वाकई में यकीन करने लायक नहीं है पर कुछ तथ्य यही बता रहे हैं।

खासकर हम बात कर रहे हैं गोवा में मौजूद गायों की जहां पर 76 आवारा गायों के झुंड पर रिसर्च किया गया और ये सारी बातें सामने आई कि अब गाय भी इंसानों की तरह अपने खाने की आदतों में बदलाव कर चुकी हैं। शाकाहारी की जगह मांसाहारी चीजें खाने लगी हैं। ऐसे में इंसान और मनुष्यों को अपना जीवन बचाए रखने और विकास करने के लिए हमेशा से बेहद अहम रहा है।

इस खुलासे के बाद से इन सभी आवारा गायो को गोवा के एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल कैलंगुट से पुनर्वास के लिए ले जाया गया। इतना ही नहीं गोवा के मंत्री माइकल लोबो ने कहा कि मांसाहारी भोजन की आसान उपलब्धता के कारण ज्यादातर रेस्तरां, चिकन स्क्रैप, बासी तली हुई मछली और अन्य जानवरों का मांस आसानी से मिल जाता है जिस वजह से इन आवारा गायों ने खाने की नई आदत को विकसित कर लिया।

आपको बताते चलें कि अवारा गायों को गोवा में एक रजिस्टर्ड गौशाला में रखा गया तो उन्होंने अन्य गायों को दिए गए सामान्य आहार को खाने से मना कर दिया। बाद में, गौशाला के प्रबंधकों ने पाया कि ये गाय मांस प्रेमी थीं। एक बार फिर गोवा की सरकार ने गायों को शाकाहारी बनाने के लिए विशेषज्ञों की मदद ली। हालांकि ये पता लगाने के लिए किया गया था कि गाय क्या खा रही है उन्होंने रात में पहरा देने का फैसला किया। पहरे के दौरान लोगों ने बछड़ों को जीवित मुर्गियों को खाते हुए पकड़ा। ऐसे में सरकार अब इन गायों का इलाज कराएगी।

पशु चिकित्सा अधिकारी के हवाले से यह भी पता चला है कि गायों के शरीर में महत्वपूर्ण खनिजों की कमी पशु के खाने के व्यवहार में इस बदलाव का कारण बन रही है गायों ने बदले हुए खाद्य वातावरण का पालन किया। इतना ही नहीं कहा तो यह भी जा रहा है कि गाय पूरी तरह शाकाहारी नहीं होती क्योंकि जब वो घास चरती हैं तो घास के साथ कीड़े भी खाती हैं। इसलिए आप अगर गायों को पवित्र मानते हैं तो एक बार जरूर सोच लें क्योंकि अगर ऐसा सभी गायों के साथ होगा।

About puja kumari

Check Also

अस्पताल से वापस घर लौटीं नुसरत जहां, वीडियो शेयर कर दी तबीयत की जानकारी

मशहूर सांसद व एक्ट्रेस नुसरत जहां को भला कौन नहीं जानता है, फिल्म जगत के …