Breaking News
Home / Politics / जानें, पूर्व वित्तमंत्री अरूण जेटली के घर के बाहर क्यों लटकी थी No Visitors Allowed की तख्ती

जानें, पूर्व वित्तमंत्री अरूण जेटली के घर के बाहर क्यों लटकी थी No Visitors Allowed की तख्ती

राजनीतिक जगत के नामी नेताओं में से एक थें पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली, जो कि अब हमारे बीच नहीं रहे। आपको बता दें कि उन्होने 24 अगस्त को दिल्ली के एम्स अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली। 67 साल की उम्र में वो इस दुनिया को अलविदा कह दिए। उनके तबीयत बिगड़ने के कारण 9 अगस्त के दिन दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थें। जिसके बाद इस बात की खबर मिलते ही उनका हाल जानने के लिए सभी नेता वहां पहुंचने लगे। यह बात तो सच है कि अरूण जेटली काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थें, उनको काफी समय पहले से ही किडनी संबंधी समस्याएँ थी, जिसके बाद उन्हें ट्यूमर संबंधी भी समस्याएं भी हो चुकी थीं हाल ही में इसकी खबर भी सुनने को मिली थीं।

इतना कुछ होने के बावजूद जब केंद्र में साल 2014 में मोदी की सरकार बनी तो उस समय अरूण जेटली को वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई जिसे उन्होने बखूबी निभाया। इतना ही नहीं उनके कार्यकाल के के दौरान कई बार ऐसी भी परिस्थितियां आई जब उनका स्वास्थ सही नहीं था लेकिन फिर भी उन्होने हार नहीं मानी पर अफसोस की साल 2019 में उन्हें अपने स्वास्थ्य के कारण मंत्रालय से दूर होना पड़ा था। उन्होने पीएम मोदी से गुजारिश कि थी की उनका नाम किसी मंत्री के लिए विचार ना किया जाये।

ये तो वो बातें है जो अभी तक आप सभी जान चुके होंगे लेकिन आज हम आपको जो बताने जा रहे हैं शायद आपको ये बात नहीं पता होगा। जी हां हाल ही में एक मीडिया सर्वे में बताया गया है कि अरुण जेटली के घर एक तख्ती लटकी हुई है जिस पर No Visitors Allowed लिखा हैं। ऐसे में इस बात की चर्चा होने लगी कि अरुण जेटली को एकांत में रखा गया हैं। ऐसे में इस बात की चर्चा होने लगी कि अरुण जेटली को एकांत में रखा गया हैं।

हालांकि यह सच नहीं है क्योंकि अरुण जेटली को एकांत में नहीं बल्कि भीड़ से अलग रखा गया था, ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें हफ्ते में दो बार डायलिसिस करवाना पड़ता था। हालांकि वो इस हाल में काम करते थे। दरअसल अरुण जेटली के डॉक्टर्स मे उन्हें भीड़ और फोन कॉल्स से दूर रहने की सलाह दी थी। उनके स्वास्थ को लेकर ही उनके घर पर यह बोर्ड इसी वजह से लगा है। इस बात की चर्चा अब सामने आई है, अभी तक कई लोगों को इस बारे में पता तक नहीं था लेकिन अब यह बात सामने आई।

वैसे अरूण जेटली अपने व्यवहार से ही सबका दिल जीत चुके हैं। अरुण जेटली की मीडिया से बहुत अच्छे से रिश्ते थे और उनके घर पर मीडिया वालों का आना-जाना लगा रहता था। बता दें कि जब भाजपा के सभी बड़े नेता 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रचार कर रहे थे उस समय अरुण जेटली के बीमार होने की खबरे आयी और उस समय हमेशा उनके घर आने वालों के लिए उनके घर के दरवाजे बंद कर दिये गए थे।

About puja kumari

Check Also

दहेज़ में BSF जवान को मिले 11 लाख रूपये, लेने से मना किया और कह दी दिल को छूने वाली बात

दोस्तों पुराने समय में दहेज़ प्रथा बहुत ज्यादा चलती थी. उस समय लड़का का होना …